Letter in Hindi

आवेदन, प्रार्थना-पत्र या लेटर प्रारूप | Sample letters, Applications in Hindi

शिकायत हेतु प्रधानमंत्री को पत्र | Complaint letter to prime minister for Unemployment

बढ़ती बेरोजगारी के समाधान के लिए प्रधानमंत्री को लेटर - Sample letter to prime minister by student


बेरोजगारी की समस्या के लिए प्रधान मंत्री को पत्र का फॉर्मेट (Sample Complain letter to pm for Unemployment). जनता की ऐसी कई समस्याएं होती हैं, जिन्हें सुलझाने के लिए कई बार प्रधानमंत्री की सहायता की आवश्यकता पड़ सकती है। आज के दौर में बेरोजगारी एक गंभीर समस्या बन चूका है जिससे हर परिवार जुझ रहा है, उचित पढाई करने के बाद भी रोजगार नहीं मिल पाता। लेकिन प्रधानमंत्री कोई आम आदमी नहीं है और न ही वो हर किसी से आसानी से मिल सकते हैं। 

berojgari Complaint letter to prime minister

ऐसी स्तिथि में बेसहारे लोग, प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर अपनी समस्या/शिकायत रखते है। आप भी पत्र के द्वारा अपनी परेशानियों को उन तक पहुंचा सकते हैं ताकि उनके कार्यालय द्वारा समाधान हो सके। ध्यान रहे अपने पत्र के साथ-साथ अपनी परेशानी से जुड़े सबूतों को भी संलग्न करें ताकि आपकी समस्या का समाधान जल्दी हो सके। यहाँ पर निचे कुछ ऐसे ही पत्र का उदाहरण है।

भारत के प्रधान-मंत्री (PM) को लेटर भेजने का पता/एड्रेस:

प्रधानमंत्री कार्यालय,
साउथ ब्लॉक, रायसीना हिल,
नई दिल्ली- 110011,
भारत।

#Sample 1  (बेरोजगारी की शिकायत के लिए प्रधान-मंत्री को पत्र)

सेवा में,
माननीय प्रधानमंत्री जी,
प्रधानमंत्री कार्यालय,
साउथ ब्लॉक, रायसीना हिल,
नई दिल्ली।

विषय: बेरोजगारी के शिकायत के संबंध में।

श्रीमान जी,
मैं विवेक त्रिपाठी, विभव नगर, आगरा का निवासी हूँ। मेरी उम्र 27 साल है और मैंने चार साल पहले पोस्ट ग्रेजुएशन की थी। मैंने एक साल तक प्राइवेट कंपनी में काम किया लेकिन मंदी के कारण मुझे वहां से निकाल दिया गया। पिछले दो साल से मैं बेरोज़गार हूँ। यह हालत केवल मेरी नहीं है बल्कि मेरे जान-पहचान के कई युवाओं की है। एक रिपोर्ट के अनुसार 2017 के बाद से ग्रेजुएट बेरोजगारों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। 2017 में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन करने वालों में बेरोज़गारी दर 12.1 फीसदी थी, जबकि दिसंबर 2018 में यह आंकड़ा 13.2 फीसदी हो गया है।

मैं उन सभी बेरोज़गार युवाओं की तरफ से आपका ध्यान इस समस्या की तरफ आकृष्ट करना चाहता हूँ। हालांकि, वर्तमान में सरकार इस बात पर अधिक बल दे रही है कि देश के सभी युवक स्वावलंबी बनें। सरकार पूरा प्रयास कर रही है कि युवा केवल सरकारी सेवाओं पर ही आश्रित न रहें बल्कि स्वरोजगार हेतु प्रयास करें। लेकिन, अभी भी जनता और सरकार दोनों को कुछ अतिरिक्त प्रयास करने की आवश्यकता है ताकि देश की प्रगति, शांति और स्थिरता को बल मिले। 

मुझे आशा है कि आप मेरी इस शिकायत पर गौर करेंगे और इस समस्या को दूर करने के प्रभावकारी मार्ग सुझाएंगे। मुझे पूरी उम्मीद है कि आने वाले समय में आपके मार्गदर्शन से हमारा देश नई ऊंचाईयों को छुयेगा। मेरे इस शिकायत पर ध्यान देने के लिए मैं हमेशा आपका कृतज्ञ रहूँगा।

धन्यवाद।

विवेक त्रिपाठी
विभव नगर, आगरा
पिन-
संपर्क-

प्रधानमंत्री तक अपनी समस्या को पहुंचाने के लिए आप ऑनलाइन भी उन्हें पत्र लिख सकते हैं। इसके लिए आपको https://www.pmindia.gov.in/hi/ साइट पर दिए गए फॉर्म को सही तरीके से भरना होगा और अपनी शिकायत या समस्या यहाँ लिखनी होगी।

नोट:- 
आप अपनी समस्या/आवश्यकता के अनुसार इन पत्रों को संशोधित कर सकते हैं।

अगर आपके पास कोई प्रश्न है, तो निचे Comment करें। यदि आप इस आवेदन प्रारूप को उपयोगी पाते हैं, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share करें।

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां